दे दना दन सैक्स से बचे

0
655
अगर आप दे दना दन सेक्स करने कि विचारधारा से पिडित है तो आप एक तरफा खिलाडी जैसे है जिसे सामने वाले कि कोई चिन्ता नही है ऐसे मे हम एक ऐसे मोड पर आते है कि हमारी महिला साथी के लिए सेक्स एक मजबुरी बन जाता है bedऔर 35साल पुरे करते करते वो सैक्स से दुरी बनाना शुरु कर देती है पुरुष साथी बहार ताकना शुरु कर सकते है अगर आप चहाते है आपकि साथी सदा सहयोग करे तो सम्भोग को आन्नदमय बनाये आप कि मर्दानगी साबित करने से ज्यादा अपनी साथी को मस्ती मे लाये सेक्स मे भारी पकड दबाव मसलना दर्द देना साथी को परेशान करत‍ा है ये मर्दानगी नही जगलीपन है
*सम्भोंग के लिए शातं माहौल चुनिये।
**सेक्स कि शुरुआत कोमल अगों के हल्के मर्दन(मसलने नही
 सहलाने)से शुरु करे
*** चुम्बन ले पर लम्बे नही होटो से गर्दन व उरोजो को भी सहलाये चुमे साथी अगर सहयोग करे तो थोडे लम्बे चुस्क चुम्बन ले
*** कोमल अंगो व गुप्त अंगो को सहलाये जब साथी चरम पर आ कर सहयोग करे ।
 **** साथी को सहयोग करने का मौका दे सम्भोग के दौरान तुफ़ानी ना बने साथी को सहलाये बाते करे कोमल अंगो से खेले हमेशा आसनो और पोजिशनो के चक्कर मे साथी को उलटा-पुलटा ना करे
***** सेक्स के दौरान उरोज,कान के निचे कि लटकन,गर्दन,व जुबान के अगले भाग के हल्के लम्बे चुस्क चुम्बन दे
****** शारीरिक सम्बन्ध कुदरत कि देन है जिस मे कभी भी अप्राकृतिक सम्बन्धों का दबाव ना बनाये ये एक मानसिक रोग है इससे बच के रहे
सेक्स से पहले आपका सेक्स साथी के साथ भावनात्मक रिश्ता होना जरुरी है ताकि वो एक समर्पण के साथ सम्भोग करे आपको मजा आये साथी भी सन्तुष्ट हो आपका तुफान किसी के लिए कही बोझ ना बन जाये कोशिश किजिये कोई मुशकिल होतो मेल करे [email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)