Anganwadi Centers Will Reopen In Chhattisgarh From September 7, Locked Due To Covid 19 Lockdown – छत्तीसगढ़ में सात सितंबर से दोबारा खुलेंगे आंगनवाड़ी केंद्र, मार्च से लगा था ताला

0
9


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रायपुर
Updated Sun, 06 Sep 2020 06:52 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹365 & To get 20% off, use code: 20OFF

ख़बर सुनें

छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी की वजह से महीनों से बंद पड़े आंगनवाड़ी केंद्र फिर से खुलेंगे। इन्हें मार्च में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद से ही बंद किया गया था, लेकिन अब सोमवार से एक बार फिर इन्हें शुरू किया जाएगा। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि बच्चों और गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य और पोषण सेवाएं प्रदान करने वाले ये केंद्र फिलहाल कंटेनमेंट जोन में बंद रखे जाएंगे।

उधर राज्य महिला और बाल विकास विभाग ने जिला कलेक्टरों समेत संबंधित अधिकारियों से कहा है कि आंगनवाड़ी केंद्रों को खोलने के साथ ही संक्रमण के रोकथाम के लिए जरूरी उपाय किए जाएं। 

अधिकारी ने कहा ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन की वजह से इन केंद्रों को 14 मार्च से ही बंद किया गया था। लेकिन डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ जैसी अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों द्वारा इस बात की आशंका जताए जाने के बाद कि कोविड-19 की वजह से कुपोषण बढ़ सकता है, हमने इन्हें फिर से खोलने का फैसला किया है।

केंद्रों को खोलने के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. इसमें 3-6 वर्ष की आयु और गर्भवती महिलाओं के बीच बच्चों को ताजा पकाया भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिदिन सीमित अवधि के लिए आंगनवाड़ियों को खोला जाएगा। इसके अलावा, बच्चों का टीकाकरण और गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा सकेगा।

छत्तीसगढ़ में कोरोना महामारी की वजह से महीनों से बंद पड़े आंगनवाड़ी केंद्र फिर से खुलेंगे। इन्हें मार्च में कोरोना संक्रमण फैलने के बाद से ही बंद किया गया था, लेकिन अब सोमवार से एक बार फिर इन्हें शुरू किया जाएगा। इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि बच्चों और गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य और पोषण सेवाएं प्रदान करने वाले ये केंद्र फिलहाल कंटेनमेंट जोन में बंद रखे जाएंगे।

उधर राज्य महिला और बाल विकास विभाग ने जिला कलेक्टरों समेत संबंधित अधिकारियों से कहा है कि आंगनवाड़ी केंद्रों को खोलने के साथ ही संक्रमण के रोकथाम के लिए जरूरी उपाय किए जाएं। 

अधिकारी ने कहा ने कहा कि कोरोना लॉकडाउन की वजह से इन केंद्रों को 14 मार्च से ही बंद किया गया था। लेकिन डब्ल्यूएचओ और यूनिसेफ जैसी अंतरराष्ट्रीय एजेंसियों द्वारा इस बात की आशंका जताए जाने के बाद कि कोविड-19 की वजह से कुपोषण बढ़ सकता है, हमने इन्हें फिर से खोलने का फैसला किया है।

केंद्रों को खोलने के लिए कई दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं. इसमें 3-6 वर्ष की आयु और गर्भवती महिलाओं के बीच बच्चों को ताजा पकाया भोजन उपलब्ध कराने के लिए प्रतिदिन सीमित अवधि के लिए आंगनवाड़ियों को खोला जाएगा। इसके अलावा, बच्चों का टीकाकरण और गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य परीक्षण भी किया जा सकेगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)