Chhattisgarh Bjp Mla Bhima Mandavi Murder Case Nia Filed Chargesheet Against 33 Accused – छत्तीसगढ़ भाजपा विधायक भीमा मंडावी हत्या मामले में एनआईए ने दायर किया आरोप पत्र

0
22


नक्सली हमले की चपेट में आई गाड़ी (फाइल फोटो)

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने छत्तीसगढ़ भाजपा विधायक भीमा मंडावी हत्या मामले में आरोप पत्र दायर कर दिया है।

एनआईए ने इस चर्चित हत्याकांड में 33 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है। एनआईए ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी, यूएपीए, आर्म्स एक्ट और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की कई धाराओं के तहत आरोप पत्र दायर किया। 

इन आरोपियों में से 6 को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि 22 आरोपी फरार हैं और पांच की मौत हो गई है। एनआईए ने बताया कि मामले में आगे की जांच जारी है। 

दंतेवाड़ा में 9 अप्रैल को हुए  नक्सली हमले में दंतेवाड़ा से भाजपा विधायक भीमा मांडवी और चार सुरक्षा कर्मी मारे गए थे। भाकपा (माओवादी) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। नक्सली उनके चार हथियार भी उठा ले गए थे। 

भाकपा (माओवादी) ने एक बयान जारी हमले की जिम्मेदारी ली थी। 

दो पेज के बयान को नक्सलियों के दंडकारण्य विशेष क्षेत्र की दरभा डिवीजन समिति के सचिव साईनाथ के नाम से जारी किया गया था। इसने कई भीषण हमलों को अंजाम दिया है। 

इसमें बस्तर की झीरम घाटी में 25 मई 2013 का हमला भी शामिल है। इसमें छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के कई बड़े नेता मारे गए थे। 

 

नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) ने छत्तीसगढ़ भाजपा विधायक भीमा मंडावी हत्या मामले में आरोप पत्र दायर कर दिया है।

एनआईए ने इस चर्चित हत्याकांड में 33 आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है। एनआईए ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी, यूएपीए, आर्म्स एक्ट और विस्फोटक पदार्थ अधिनियम की कई धाराओं के तहत आरोप पत्र दायर किया। 

इन आरोपियों में से 6 को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि 22 आरोपी फरार हैं और पांच की मौत हो गई है। एनआईए ने बताया कि मामले में आगे की जांच जारी है। 

दंतेवाड़ा में 9 अप्रैल को हुए  नक्सली हमले में दंतेवाड़ा से भाजपा विधायक भीमा मांडवी और चार सुरक्षा कर्मी मारे गए थे। भाकपा (माओवादी) ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी। नक्सली उनके चार हथियार भी उठा ले गए थे। 

भाकपा (माओवादी) ने एक बयान जारी हमले की जिम्मेदारी ली थी। 

दो पेज के बयान को नक्सलियों के दंडकारण्य विशेष क्षेत्र की दरभा डिवीजन समिति के सचिव साईनाथ के नाम से जारी किया गया था। इसने कई भीषण हमलों को अंजाम दिया है। 

इसमें बस्तर की झीरम घाटी में 25 मई 2013 का हमला भी शामिल है। इसमें छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के कई बड़े नेता मारे गए थे। 

 





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)