Senior Doctor Tries To Molest Junior Doctor At Rims Covid 19 Ward – रिम्स के काेविड-19 वार्ड की जूनियर से सीनियर डाॅक्टर ने की दुष्कर्म की कोशिश, फरार 

0
116


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रांची
Updated Sat, 30 May 2020 07:54 PM IST

ख़बर सुनें

रिम्स के कोविड वार्ड में तैनात एक सीनियर डॉक्टर ने जूनियर डॉक्टर के साथ दुष्कर्म की कोशिश की। घटना के बाद से आरोपी सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर फरार है। वह शहर के एक प्रसिद्ध नेफ्रोलॉजिस्ट का दामाद है। पुलिस मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

आराेपी डाॅक्टर की दाे महीने पहले ही शादी हुई है। डाॅक्टर की गिरफ्तारी की मांग काे लेकर शुक्रवार काे जूनियर डाॅक्टर बरियातू थाना पहुंचे। वहां जूनियर डाॅक्टराें और थाना प्रभारी के बीच नाेंकझाेंक भी हुई। इसके बाद जूनियर डाॅक्टराें ने थाने का घेराव भी किया। बाद में डाॅक्टर की गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद जूनियर डाॅक्टर लाैटे। पीड़िता ने इस संबंध में रिम्स डायरेक्टर से लिखित शिकायत की थी।  

पीड़िता एनेस्थीसिया विभाग की प्रथम वर्ष की छात्रा है। उसने कहा कि  21 से 27 मई तक उसकी ड्यूटी सीनियर डाॅक्टर के साथ काेविड-19 आईसीयू में लगी थी। उसे पेइंग वार्ड में एक कमरा मिला था। 27 मई काे एक मरीज इलाज के लिए काेविड आईसीयू में भर्ती था। रिपाेर्ट निगेटिव आने पर उसे कार्डियाेलाॅजी ब्लाॅक के आईसीयू में भर्ती करा दिया।

आरोपी डाॅक्टर ने उससे कहा कि मेरे घर का दरवाजा बंद है। उसे अपने साथ रहने दे। लेकिन उसने मना कर दिया। इसके बाद डाॅक्टर ने चाैथे तल पर ही कमरा बुक करा लिया। डाॅक्टर ने पीड़िता से पानी मांगा। जब वह पानी लेकर गई ताे डाॅक्टर ने दुष्कर्म का प्रयास किया। विराेध करने पर मारपीट की। किसी तरह वह जान बचाकर भागी और बाकी सीनियरों काे इसकी जानकारी दी।  
 

रिम्स के कोविड वार्ड में तैनात एक सीनियर डॉक्टर ने जूनियर डॉक्टर के साथ दुष्कर्म की कोशिश की। घटना के बाद से आरोपी सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर फरार है। वह शहर के एक प्रसिद्ध नेफ्रोलॉजिस्ट का दामाद है। पुलिस मोबाइल लोकेशन के आधार पर आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

आराेपी डाॅक्टर की दाे महीने पहले ही शादी हुई है। डाॅक्टर की गिरफ्तारी की मांग काे लेकर शुक्रवार काे जूनियर डाॅक्टर बरियातू थाना पहुंचे। वहां जूनियर डाॅक्टराें और थाना प्रभारी के बीच नाेंकझाेंक भी हुई। इसके बाद जूनियर डाॅक्टराें ने थाने का घेराव भी किया। बाद में डाॅक्टर की गिरफ्तारी के आश्वासन के बाद जूनियर डाॅक्टर लाैटे। पीड़िता ने इस संबंध में रिम्स डायरेक्टर से लिखित शिकायत की थी।  

पीड़िता एनेस्थीसिया विभाग की प्रथम वर्ष की छात्रा है। उसने कहा कि  21 से 27 मई तक उसकी ड्यूटी सीनियर डाॅक्टर के साथ काेविड-19 आईसीयू में लगी थी। उसे पेइंग वार्ड में एक कमरा मिला था। 27 मई काे एक मरीज इलाज के लिए काेविड आईसीयू में भर्ती था। रिपाेर्ट निगेटिव आने पर उसे कार्डियाेलाॅजी ब्लाॅक के आईसीयू में भर्ती करा दिया।

आरोपी डाॅक्टर ने उससे कहा कि मेरे घर का दरवाजा बंद है। उसे अपने साथ रहने दे। लेकिन उसने मना कर दिया। इसके बाद डाॅक्टर ने चाैथे तल पर ही कमरा बुक करा लिया। डाॅक्टर ने पीड़िता से पानी मांगा। जब वह पानी लेकर गई ताे डाॅक्टर ने दुष्कर्म का प्रयास किया। विराेध करने पर मारपीट की। किसी तरह वह जान बचाकर भागी और बाकी सीनियरों काे इसकी जानकारी दी।  
 



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)